Krishi Panchang Calendar 2024 | कृषि पंचांग कैलंडर 2024

Krishi Panchang Calendar 2024 | कृषि पंचांग कैलंडर 2024

Regular price Rs. 180.00
Regular price Rs. 240.00 Sale price Rs. 180.00
Sale Sold out
Shipping calculated at checkout.

ताराचंद बेलजी तकनीक(TCBT) का कृषि पंचांग इस विक्रम संवत २०८१-२०८२ वर्ष का कैलेंडर छप रहा है। 

रसायन मुक्त कृषि में सफल होने के लिए और जैविक जीवन को पूर्ण करने लिए यह पंचांग अति आवश्यक है।

🔶किस तिथि किस माह में क्या बोना है,क्या खाना है। कौन सा बीज कब उगता है।
🔶किन तिथियों में बीमारी बढ़ती है,अमावश्या में जड़ बढ़ती है,पूर्णिमा में पत्ते शाखाएं बढ़ती है।
🔶कृषि में किस माह किन बातों की अग्रिम तैयारी करनी है।
🔶गौ-पालन में कब क्या करें, मानव जीवन मे किस माह क्या खाएं,क्या न खाएं। आदि बातों का अध्ययन कर इस पंचांग में डालने का प्रयास किया है।
🔶प्राकृतिक खेती शोध संस्था के सभी मुख्य प्रयोग परीक्षण (फार्मूले) इसमे है।
🔶भूमि उपचार की पूरी प्रक्रिया इसमे है।

हमारे ऋषियों को इस बात का ज्ञान था इसीलिये उन्होंने समाज जीवन को सबसे पहले पञ्चाङ्ग अर्थात केलेंडर ही दिया था, आधुनिकता की दौड़ में हम इसे भूल रहे है। हम सब समय यात्री है,समय के साथ ही यात्रा करेंगे,तभी स्वस्थ रहेंगे, सरवाइब करेंगे।चन्द्रमा वनस्पतियों का देवता है,चंद्रमा तय करता है कि पौधे की जड़े कब बढ़ेगी शाखाएं कब निकलेगी।और हमारा जीवन वनस्पतियो, फसलो पर आश्रित है
अस्तु हमने भी बहुत से व्रत और त्यौहार चंद्रमा की कलाओं पर ही मनाने शुरू कर दिये, हम सूर्यपूजक है, ब्रम्हांड का समय हम सौर कैलेंडर से मापते है पर अपने जीवन मे समय का मापन हमने हमेशा चन्द्र कैलेंडर से किया है।
शुक्ल पक्ष-चंद्रमा के बढ़ने की अवधि 14 दिन,पूर्णिमा।
कृष्ण पक्ष-चंद्रमा के घटने की अवधि 14 दिन, अमावश्या।
ऐसे 28 दिन को एक माह मानकर
🔶चैत
🔶वैशाख
🔶ज्येष्ठ
🔶आषाढ़
🔶सावन
🔶भादो
🔶कुँवार
🔶कातिक
🔶अगहन
🔶पूस
🔶माघ
🔶फाग
ऐसी ही गणना हम पिछले दशक तक करते ही रहे है,आज की पीढ़ी इस सब को इतनी तेजी से भूली कि अब हमें ये सब याद ही नही रहे। जिसका अनेक क्षेत्रों में खमियाज़ा आज भुगत भी रहे है। जैसे-खेती में कब क्या बोना,कब क्या काम करना,किस नक्षत्र में बीज बोना,पौधे की कटिंग करना,जड़ लेना या पत्ती लेना जैसी महत्वपूर्ण विधा ही भूल गए। अपने जन्मदिन का नक्षत्र ही भूल गए और इस नक्षत्र में कौन सा पौधा हमारे लिए अनुकूल होता है का ज्ञान ही नही है। चन्द्र कलाओ के अनुसार 3g/4g कटिंग पर ध्यान दिया तो आशातीत सफलता निश्चित है।

चन्द्रमा की गतिविधियों पर आधारित एक भारतीय तिथि का कैलेण्डर प्रकाशित किया जाये।

इस वर्ष हमने माघ माह से यह भारतीय काल गणना विक्रम संवत पर आधारित इस कैलेंडर में हिंदी तिथियां,व्रत,जयंती सब है ही साथ ही
👉 कृषि कार्य की जानकारी
(फसलो के बोने काटने की तिथियां,किस माह कौन सी फसलो की 3g/4g कटिंग करें,कौन सी खाद बनाये आदि) जानकारी है

👉प्राकृतिक खेती की मूल पद्धति TCBT पंच महाभूत कृषि की मौलिक अवधारणा,सभी महाभूत की कमी के पौधो पर लक्षण और निदान के उपाय इसमें है।

👉TCBT रसायन मुक्त कृषि से 24 तरह की फसलों में रिकार्ड उत्पादन लेने वाले 60 किसानों के फोटो नाम और मोबाइल नंबर है,संक्षिप्त सफलता की कहानी है,इस किसानों से आप बात करके अनुभव का लाभ भी ले सकते है।

👉चन्द्र कलाओ और नक्षत्रों का हमारे जीवन व पौधों पर प्रभाव की माहवार व्याख्या हो,किस तिथि किस माह में क्या निगेटिव हो जाता है,क्या नही खाना,उसी तिथि में उल्लेखित है।

👉 कैलेंडर के पीछे ताराचंद बेलजी तकनीक (TCBT) के फसल उत्पादन के सिद्ध फार्मूलों का सविस्तार जानकारी है।
👉 रसायनो से,ट्रेक्टर की बार बार जुताई से बहुत सख्त(कठोर) हो चुकी मिट्टी को TCBT भूमि उपचार से सजीव(मक्खन जैसे मुलायम) बनाने की पूरी पद्धति है।
👉बिना भूमि उपचार सरसो, कपास की रसायन मुक्त खेती से बंपर उपज की पूरी पैकेज ऑफ प्रेक्टिस है।,इस प्रेक्टिस को समझकर आप दूसरी फसलों का प्रेक्टिस भी समझ सकते है।

कुल मिलाकर हमारे कृषि और जैविक जीवन के यह कैलेंडर बहुत प्रभावी है।

ताराचंद बेलजी तकनीक (TCBT) का यह चौथे वर्ष का कैलेंडर है,इस कैलेंडर का उद्देश्य है कि इस पंचांग से प्राकृतिक कृषि की मूल पद्धति पंच महाभूत कृषि को महत्व मिले,भारत की विज्ञान सम्मत काल(समय)आधारित लोग जीवन जिएं।

Krishi Panchang Calendar 2024 is a valuable almanac specifically designed for organic agriculture and leading an organic lifestyle. It provides crucial information about the best times for sowing seeds, the growth cycles of crops and the occurrence of diseases based on lunar phases. This calendar also covers topics such as cow rearing, dietary practices and the principles of natural farming. It serves as a reminder of the ancient wisdom of aligning agricultural activities with the cycles of nature.

#कृषी पंचांग कैलेंडर 2024
#કૃશી પંચંગ કેલેન્ડર 2024
#कृषी पंचांग कॅलेंडर 2024
#কৃষ্ণ পঞ্চাং ক্যালেন্ডার 2024
#కృషి పంచంగ్ క్యాలెండర్ 2024
#ಕೃಷಿ ಪಂಚಾಂಗ್ ಕ್ಯಾಲೆಂಡರ್ 2024
#കൃഷി പഞ്ചങ് കലണ്ടർ 2024
#கிருஷி பஞ்சாங் காலண்டர் 2024


 

View full details